Begana Hindi Shayari – ये धुंधला अक्स ये आइना

ये धुंधला अक्स, ये आइना बेगाना..
मेरे अन्दर मैं, जैसे एक गुज़रा ज़माना..!!

Begana Hindi Shayari – काँटों से गुज़र जाता हूँ

काँटों से गुज़र जाता हूँ, दामन को बचा कर,
फ़ूलों की सियासत से बेगाना नहीं हूँ मैं…!!

Begana Hindi Shayari – मंजिलों से बेगाना आज भी

मंजिलों से बेगाना आज भी सफ़र मेरा…
रात बेसहर मेरी दर्द बेअसर मेरा…

1 2