Inspirational Poem In Hindi – लक्ष की और अग्रसर

अब रिस्ते टूटता है तो टूटे अब अपने रूठते है तो रूठे
अब जग छूटता है तो छूटे हम अपने लक्ष की और अग्रसर
अब न रुकेंगे, अब न झुकेंगे,

अब समंदर मे उफा आता है तो आए अब रास्ते मे तूफा आता है तो आए,
हम अपने लक्ष की और अग्रसर , अब न रुकेंगे अब न झुकेंगे,

अब सपने टूटते है तो टूटे अब यारो का महफ़िल छूटता है तो छूटे
हम अपने लक्ष की और अग्रसर अब न रुकेंगे अब न झुकेंगे,

अब गांव की गालिया छूटती है तो छुटे,अब बड़ो का अधिकार बच्चो का
प्यार छुटता है तो छुटे, हम अपने लक्ष की और अग्रसर अब न रुकेंगे अब न झुकेंगे,

अब रस्ते कितना भी बदलना पड़े बदलेंगे, अब रास्ता कितना भी लंबा हो
तय करेंगे पर, हम अपने लक्ष की और अग्रसर अब न रुकेंगे अब न झुकेंगे

 

Submitted By: Abhinav Jha

Poem In Hindi Font – हुँकार भर रहा हिंदुस्तान

हुँकार भर रहा हिंदुस्तान,
तिलमिला उठा पाकिस्तान!
तू चींटी मैं हाथी,
बस साथ निभाना साथी!!
सेना ने लायी ये बहार,
अब नहीं सहेंगे अत्याचार!
टूटा है अब ये सब्र,
तैयार है आतंकियों की कब्र!!
मिटा अँधकार निकला है फक्क उजाला,
आतंक के विरोध में भारत माँ बनी है ज्वाला!
थँमेगा नहीं ये अभियान,
हुँकार भर रहा हिंदुस्तान!!
आज लगी है ये चिंगारी,
जिस पर कायम है सरजमीं सारी!
होगा अब कश्मीर का उत्थान,
हुँकार भर रहा हिंदुस्तान!!

Submitted By : Abhishek Nauputra