DilSeDilTak.co.in

Shayari, SMS, Quotes, Jokes And More....

Manzil Shayari

Manzil Hindi Shayari – मंज़िल तो मिल ही जायेगी

मंज़िल तो मिल ही जायेगी भटक कर ही सही,
गुमराह तो वो हैं जो घर से निकला ही नहीं |


Advertisements
Loading...

Updated: January 27, 2017 — 4:22 pm

Manzil Hindi Shayari – डर मुझे भी लगा फांसला

Advertisements

डर मुझे भी लगा फांसला देख कर!
पर मैं बढ़ता गया रास्ता देख कर!
खुद ब खुद मेरे नज़दीक आती गई!
मेरी मंज़िल मेरा हौंसला देख कर।

Updated: January 27, 2017 — 4:21 pm

2 Line Shayari – मंजिलें सब का मुकद्दर हों, यह ज़रूरी

Advertisements

मंजिलें सब का मुकद्दर हों, यह ज़रूरी तो नहीं 
खो भी जाते हैं, नयी राहों पर चलने वाले

Updated: January 10, 2015 — 2:55 pm

2 Line Shayari – रफ़्ता-रफ़्ता मेरी जानिब, मंज़िल बढ़ती

Advertisements
loading...

रफ़्ता-रफ़्ता मेरी जानिब, मंज़िल बढ़ती आती है,
चुपके-चुपके मेरे हक़ में, कौन दुआएं करता है।

Updated: January 10, 2015 — 2:55 pm
loading...
Loading...
DilSeDilTak.co.in © 2015