DilSeDilTak.co.in

Shayari, SMS, Quotes, Jokes And More....






Category: Minnat Shayari

Minnat Hindi Shayari – नाराज़गी समझते हैं न नाखु़शी

नाराज़गी समझते हैं न नाखु़शी हमारी
यही है मुद्दत से परेशानी हमारी

हुक्मरानों से मिन्नत हमारे खूं में नहीं
ख़ुद्दारी आदत है ख़ानदानी हमारी

Updated: May 31, 2017 — 1:32 pm

Minnat Hindi Shayari – मिन्नत किसी रोज मौत दस्तक

मिन्नत किसी रोज मौत, दस्तक दे मेरे दरवाजे पे…….!!
अरसा हुआ दर्द के सिवा, किसी और मिले हुए………!!

Updated: May 10, 2017 — 12:32 pm

Minnat Hindi Shayari – लब बंद हैं साक़ी मिरी

लब बंद हैं साक़ी मिरी आँखों को पिला दे
वो जाम जो मिन्नत-कश-ए-सह्बा नहीं होता॥

Updated: April 26, 2017 — 2:11 pm






DilSeDilTak.co.in © 2015