Udaas Shayari – Kabhi Kabhi To Chhalak Padti Hain

कभी कभी तो छलक पड़ती हैं यूँही आँखें
उदास होने का कोई सबब नहीं होता

Udaas Hindi Shayari – उदास शाम की तन्हाईयों में

उदास शाम की तन्हाईयों में जलता हुआ,
वो काश आए कभी मेरे पास चलता हुआ I

Udaas Hindi Shayari – गम हूँ… दर्द हूँ… साज

गम हूँ… दर्द हूँ… साज हूँ या.. आवाज हूँ…
बस जो भी हूँ मैं …बस तुम बिन उदास हूँ…

1 2