DilSeDilTak.co.in

Shayari, SMS, Quotes, Jokes And More....

Loading...

Category: Zarurat Shayari

Zarurat Hindi Shayari – यूँ माना ज़ि‍न्दगी है चार

यूँ माना ज़ि‍न्दगी है चार दिन की
बहुत होते हैं यारो चार दिन भी

ख़ुदा को पा गया वायज़ मगर है
ज़रूरत आदमी को आदमी की




Updated: May 31, 2017 — 1:32 pm

Zarurat Hindi Shayari – ज़रूरत दिन निकलते ही निकल

Loading...


ज़रूरत दिन निकलते ही निकल पड़ती है डयूटी पर
बदन हर शाम ये कहता है अब हड़ताल हो जाए

Updated: May 25, 2017 — 8:56 pm

Zarurat Hindi Shayari – जैसे मुमकिन हो इन अश्कों

जैसे मुमकिन हो इन अश्कों को बचाओ ‘तारिक़’
शाम आई तो चराग़ों की ज़रूरत होगी




Updated: April 18, 2017 — 10:33 am

Zarurat Hindi Shayari – हुआ था शोर पिछली रात

हुआ था शोर पिछली रात को……दो “चाँद” निकले हैं,
बताओ क्या ज़रूरत थीं “तुम्हे” छत पर टहलने की




Updated: January 27, 2017 — 4:22 pm

Zarurat Hindi Shayari – तेरे हुस्न को नकाब की

तेरे हुस्न को नकाब की जरुरत ही क्या है
न जाने कौन रहता होगा होश में तुझे देखने के बाद

Updated: January 27, 2017 — 4:22 pm
Page 1 of 212
Loading...
DilSeDilTak.co.in © 2015