DilSeDilTak.co.in

Shayari, SMS, Quotes, Jokes And More....







Hasrat Hindi Shayari – न पूँछ मेरे सब्र की

न पूँछ मेरे सब्र की इंतिहा कहाँ तकहै
तू सितम करले,तेरी हसरत जहाँ तक है
वफ़ाकी उम्मीद जिन्हे होगी,उन्हे होगी
हमेतो देखनाहै,तू बेवफ़ा कहा तकहै

Leave a Reply







DilSeDilTak.co.in © 2015