DilSeDilTak.co.in

Shayari, SMS, Quotes, Jokes And More....







Minnat Hindi Shayari – रिहाई की कोई सूरत नहीं

रिहाई की कोई सूरत नहीं है
मगर हाँ मिन्नत -ऐ -सैयाद कर के

बदन मेरा छुआ था उसने लेकिन
गया है रूह को आबाद कर के

Leave a Reply







DilSeDilTak.co.in © 2015