DilSeDilTak.co.in

Shayari, SMS, Quotes, Jokes And More....

Tag: Best Anmol Vachan

प्रेरक शिक्षाप्रद हिंदी अनमोल वचन सुविचार – ज्ञानवर्धक प्रेरणादायक विचार : धन दौलत से ज्यादा – अच्छा व्यवहार काम आता है।

संसार में दो प्रकार के वृक्ष हैं……

प्रथम – अपना फल अपने आप दे देते हैं। जैसे – आम, अमरूद, केला इत्यादि।

द्वितीय – अपना फल छिपाकर रखते हैं। जैसे – आलू, अदरक, प्याज इत्यादि।

जो अपना फल अपने आप दे देते हैं उन वृक्षों को सभी खाद-पानी देकर सुरक्षित रखते हैं किन्तु जो अपना फल छिपाकर रखते हैं वे जड़ से खोद दिये जाते हैं। ठीक इसी प्रकार जो अपनी विद्या, धन, शक्ति स्वयं ही समाज सेवा में, समाज के उत्थान में लगा देते हैं, उनका सभी ध्यान रखते हैं अर्थात मान-सम्मान देते हैं। वहीं दूसरी ओर जो अपनी विद्या, धन, शक्ति स्वार्थवश छिपाकर रखते हैं, किसी की सहायता से मुख मोडे रखते हैं वे जड़ सहित खोद लिये जाते हैं, अर्थात समय रहते ही भुला दिये जाते हैं।🙏

शिक्षा : धन दौलत से ज्यादा – अच्छा व्यवहार काम आता है।🙏

(प्रेरक शिक्षाप्रद हिंदी अनमोल वचन सुविचार – ज्ञानवर्धक प्रेरणादायक विचार – प्रेरक हिंदी शायरी )

Updated: September 29, 2016 — 3:52 pm

Anmol Vachan In Hindi On Soch And Nasihat – Hindi Suvichar On Thinking

Advertisements


आदमी की सोच और नसीहत समय-समय पर बदलती रहती है,
चाय में मक्खी गिरे तो चाय फेंक देते हैं,
देशी घी में गिरे जाये तो मक्खी को फेंक देते है

Updated: February 8, 2016 — 9:02 pm

Inspirational Shayari – Asal Mein Vahi Jeevan Ki Chaal Samjhta Hai

असल में वही जीवन की चाल समझता है
जो सफ़र में धूल को गुलाल समझता है ..!


Advertisements
Loading...

Updated: December 31, 2014 — 6:55 pm

Motivational Shayari – पकाई जाती है रोटी जो मेहनत के कमाई से

Advertisements


पकाई जाती है रोटी जो मेहनत के कमाई से,
हो जाए गर बासी तो भी लज्ज़त कम नहीं होती,

Updated: December 31, 2014 — 6:55 pm

Hindi Anmol Vachan – Zindagi Mein Had Se Jyada Khushi

जिंदगी में हद से ज्यादा ख़ुशी और हद से ज्यादा गम का कभी किसी से इज़हार मत करना।
क्योंकि, ये दुनिया बड़ी ज़ालिम है।
हद से ज्यादा ख़ुशी पर ‘नज़र’ और हद से ज्यादा गम पर ‘नमक’लगाती है।

Updated: December 31, 2014 — 6:55 pm

Motivational Suvichar – आज लाखो रुपये बेकार है

Advertisements


आज लाखो रुपये बेकार है
वो एक रुपये के सामने
जो माँ स्कूल जाते वक्त देती थी.

Updated: December 31, 2014 — 6:55 pm
Page 1 of 1012345...10...Last »
Loading...
Loading...
DilSeDilTak.co.in © 2015