Bhool Hindi Shayari – हसीनाओ की आदत ही होती

हसीनाओ की आदत ही होती है जलाने की,
तुम चिराग बन बैठे यही तुम्हारी भूल है।

Bhool Hindi Shayari – किस तरह खत्म करेँ उन

किस तरह खत्म करेँ उन से रिश्ता..!!
जिन्हे सिर्फ सोचते ही सारी कायनात भूल जाते है..

Bhool Hindi Shayari – तेरी चाहत में हम ज़माना

तेरी चाहत में हम ज़माना भूल गये,
किसी और को हम अपनाना भूल गये,
तुम से मोहब्बत हैं बताया सारे जहाँ को,
बस एक तुझे ही बताना भूल गये..

1 2