DilSeDilTak.co.in

Shayari, SMS, Quotes, Jokes And More....






Tag: Chand Hindi Poetry

Chand Hindi Shayari – तारों मे अकेले चाँद जगमगाता

तारों मे अकेले चाँद जगमगाता है
मुश्किलो मे अकेला इन्सान डगमगाता है
काँटों से मत घबराना मेरे दोस्त
क्योंकि काँटो मे ही एक गुलाब मुस्कुराता है

Updated: April 18, 2017 — 10:33 am

Chand Hindi Shayari – मैंने जब भी देखा चाँद

मैंने जब भी देखा चाँद को चाँद में दाग देखा है
जब जब देखा तुमको तुम को बेदाग़ देखा है ..

Updated: April 18, 2017 — 10:33 am
Page 1 of 212







DilSeDilTak.co.in © 2015