DilSeDilTak.co.in

Shayari, SMS, Quotes, Jokes And More....

Holi Par Tawcha Ka Rakhe Khyal

हेल्थ व सेफ्टी टिप्स होली पर : कैसे रहे होली पर स्वस्थ व सुरक्षित

सुरक्षित व स्वस्थ तरीके से कैसे मनाये होली :-

आहार

त्योहार आने पर कर्इ लोग जो डाइटिंग पर भी होते हैं, वह भी इस दिन खुद के पेट को कंट्रोल नहीं कर पाते। यही समय है जब वेट ज्यादा बढ जाता है।

सिंथेटिक रंग को कहें ना

बाजार में मिलने वाले रंगों में लेड आक्साइड, मरकरी सल्फाइड ब्रोमाइड, कापर सल्फेट आदि भयानक केमिकल मिले होते हैं जो कि आंखों की एलर्जी, त्वचा में खुजली और अंधा तक बना देते हैं।

प्राकृतिक रंगों का प्रयोग

आप बाजारू रंगों की जगह पर हिना, हल्दी पाउडर, चंदन, फूलों की पंखुडियों का चूरा आदि भी प्रयोग कर सकते हैं, जो कि त्वचा को बिल्कुल भी नुकसान नहीं पहुंचाएगा।

एलर्जी

वे लोग जिन्हें रंगों से एलर्जी हैं, उन्हें हर हाल में इन रंगों से दूर रहना चाहिये। वे लोग जिन्हें एक्जिमा की बीमारी है, वे इन रंगों से हर हाल में दूरी बनाएं।

घाव पर रखें नजर

होली खेलते वक्त त्वचा लगातार पानी के संपर्क में रहती है, इसलिये त्वचा पर घाव और कटने छिलने के आसान बढ जाते हैं। अगर आपकी त्वचा कट छिल जाए तो उस पर एंटीसेप्टिक लगाएं और रंग खेलना बंद कर दें।

कपड़ो का रखें खयाल

होली खेलने के दौरान अक्सर खींचतान में कपड़े फटने या सिलाई खुलाने का डर होता है। इसलिए ध्यान रखें कि कपड़े ज्यादा पुराने नहीं हो। जिससे आपको शर्मिदगी उठानी पड़े। और कोशिश करें कि पूरा शरीर ढकने वाले कपड़े ही पहनें। इससे काफी हद तक शरीर का रंगों से बचाव हो जाता है।

त्वचा का रखें खयाल

होली खेलने से पहले अपने शरीर पर खूब सारा तेल या फिर मॉश्चराइजर लगाएं । इसके 15 मिनट बाद अपने शरीर पर वाटरप्रूफ सनस्क्रीन लगाएं। इससे आपकी त्वचा पर रंगों का असर नहीं होगा और नहाते वक्त रंग आसानी से निकल जाएगा।

गहरे रंग के कपड़े पहनें

होली में गीले रंगों का ज्यादा इस्तेमाल होता है। लोग आप पर बाल्टी में रंग घोल कर डालते हैं। ऐसे में अगर आप सफेद या हल्के रंग के कपड़े पहनेगें तो यह गीला होकर पारदर्शी हो जाता है। जिससे आपको शर्मिंदगी उठानी पड़ सकती है। इसलिए गहरे रंग वाले कपड़े ही पहनें।

कानों का रखें खयाल

होली में कानों को भी खास ख्याल की जरूरत होती है। लोग पानी वाले गुब्बारों को एक दूसरे के ऊपर फेंकते है जिससे कानों में पानी जाने की संभावना होती है। इसलिए कानों का ध्यान रखते हुए होली खेलें।

ज्वेलरी नहीं पहनें

रंग खेलने के दौरान किसी भी तरह की ज्वेलरी नहीं पहनना चाहिए। क्योंकि होली की छेड़-छाड़ में ज्वेलरी गिरने का डर रहता है। इसके साथ होली की मस्ती में ज्वैलरी से आपको चोट भी लग सकती है। साथ ही उसमें अगर रंग फंसा रह जाए तो आपकी त्वचा को संक्रमण होने का भी खतरा रहता है।

बालों का रखें खयाल

होली खेलने से पहले अपने बालों में तेल से मसाज करें। अपनी बालों बांध कर रखें। संभव हो तो बालों को ढककर रखें, जिससे आपकी बालों का बचाव हो सके।

देखकर खरीदें रंग

जब भी रंग खरीदने जाएं तो कोशिश करें कि हरा, बैगनी, पीला और नारंगी रंग न लेकर लाल या फिर गुलाबी रंग खरीदें। क्यों कि गहरे रंगों में ज्या दा रसायन मिले हुए होते हैं।

आंखों का रखें खयाल

अपनी आखों का खास खयाल रखें। आंखों को रंग, गुलाल, अबीर आदि चला जाए तो तुरंत पानी से धोएं। क्यों कि इनमें मौजूद पोटैशियम हाईक्रोमेट नामक हानिकारक रसायन आंखों को काफी नुकसान पहुंचा सकता है। आंखों को रगड़े नहीं। ज्यादा जलन व चुभन होने पर तुरंत डॉक्टर को दिखाएं।

बच्चों का रखें खयाल

होली की मस्ती के दौरान अक्सर लोग बच्चों का ख्याल नहीं रखते हैं। बच्चों को भी अपनी मनमानी करने का मौका मिल जाता है। आपको ध्यान देना चाहिए कि बच्चे कैसे होली खेल रहें हैं।

Updated: March 2, 2015 — 5:46 am
loading...
Loading...
DilSeDilTak.co.in © 2015