DilSeDilTak.co.in

Shayari, SMS, Quotes, Jokes And More....

Zakhm Hindi Shayari – बैठ कर उदास लम्हों में

बैठ कर उदास लम्हों में ये सोचता हूँ
दुश्मनी भी नही किसी से फिर ज़ख्म गहरे क्यों हुए

Leave a Reply

DilSeDilTak.co.in © 2015