2 Lines Hindi Font Inspirational Shayari – Udti Thi Jo Muh Tak

उड़ती थी जो मुँह तक आज लिपटी है पाँव से
ज़रा सी बारिश क्या हुई मिट्टी की फितरत बदल गई


Leave a Reply