2 Lines Hindi Font Shayari – वो नदियां नहीं आँसू थे मेरे जिनपर वो

वो नदियां नहीं आँसू थे मेरे जिनपर वो कश्ती चलाते रहे,
मंज़िल मिले उन्हें ये चाहत थी मेरी,इसीलिए हम आँसू बहाते रहे…

Leave a Reply