Nazakat Hindi Shayari – ज़िन्दगी भी मुझसे बे-अदबी से

ज़िन्दगी भी मुझसे बे-अदबी से पेश आने लगी है,
इसको भी वक़्त की नज़ाकत का एहसास हो चला.


Nazakat Hindi Shayari – कुछ ठोकरों के बाद नज़ाकत

कुछ ठोकरों के बाद नज़ाकत आ गई मुझ में …..!
मैं अब दिल के मशवरों पर भरोसा नहीं करता …!


Nazakat Hindi Shayari – ये सलीका ये नज़ाकतये सज़दा

ये सलीका ये नज़ाकत,ये सज़दा और ये इबादत,
काफ़िर,लगता है तुझे किसी फ़रिश्ते ने छू लिया है


1 2