Best Shayari In 2 Lines – मगर शाम ही तो है


दिल ना-उमीद तो नहीं नाकाम ही तो है
लम्बी है ग़म की शाम मगर शाम ही तो है
~ फ़ैज़ अहमद फ़ैज़

Best Hindi Shayari – एक ही ज़ख्म नही पूरा वजूद ही जख़्मी है

एक ही ज़ख्म नही पूरा वजूद ही जख़्मी है…….!!
कमबख्त,दर्द भी हैरान है आखिर उठे तो उठे कहाँ से……!!

Best Hindi Sad Shayari – सिर्फ़ धो​खा ही शुद्ध मिलता है

सिर्फ़ धो​खा ही #शुद्ध मिलता है

इस ज़माने में , साहिब बाक़ी तो सब में #मिलावट है ..