Woh zindagi hi kya jisme mohabbat nahi


Woh zindagi hi kya jisme mohabbat nahi,
Woh mohabat hi kya jisme yaadein nahi,
Woh yaadein hi kya jisme tum nahi,
Aur woh tum hi kya jiske saath hum nahi….

Dosti Shayari 4 Lines – यार तो आइना हुआ करते हैं यारों के

यार तो आइना हुआ करते हैं यारों के लिए ,
तेरा चेहरा तो अभी तक है नकाबों वाला ,
मुझसे होगी नहीं दुनिया ये तिजारत दिल की , (तिजारत ~ Trading)
मै करूँ क्या कि मेरा जहाँ है ख्वाबों वाला