Chand Hindi Shayari – जिसके हिस्से में रात आयी


जिसके हिस्से में रात आयी है…..
यकीनन उसके हिस्से में चाँद भी होगा….!!

Chand Hindi Shayari – तारों मे अकेले चाँद जगमगाता

तारों मे अकेले चाँद जगमगाता है
मुश्किलो मे अकेला इन्सान डगमगाता है
काँटों से मत घबराना मेरे दोस्त
क्योंकि काँटो मे ही एक गुलाब मुस्कुराता है

Chand Hindi Shayari – मैंने जब भी देखा चाँद

मैंने जब भी देखा चाँद को चाँद में दाग देखा है
जब जब देखा तुमको तुम को बेदाग़ देखा है ..

Chand Hindi Shayari – लो तुमको चाँद कह दिया

लो तुमको चाँद कह दिया मैंने
चाँद भी अक्सर छिप ही जाता है
तुम भी तो मिलते और छिपते हो
फिर भी दिल तुमको ही चाहता है..

Chand Hindi Shayari – बेचैन इस क़दर था कि

बेचैन इस क़दर था कि सोया न रात भर
पलकों से लिख रहा था तिरा नाम चाँद पर

1 2