Zakhm Hindi Shayari – जीवन में ज़ख्म बड़े नहीं

जीवन में ज़ख्म बड़े नहीं होते हैं;
उनको भरने वाले बड़े होते हैं;
रिश्ते बड़े नहीं होते हैं;
लेकिन रिश्तों को निभाने वाले बड़े होते हैं।


Zakhm Hindi Shayari – ज़ख्म हज़ारो है सीने में

ज़ख्म हज़ारो है सीने में एक दिन तो भर जायेगे
आँखों से भी मत पूछना ये अश्क किसने दिए
नहीं तो कई अपने बिछड़ जायेंगे


Zakhm Hindi Shayari – काश बनाने वाले ने दिल

काश बनाने वाले ने दिल कांच के बनाये होते
तोड़ने वाले के हाथ में ज़ख्म तो आये होते


1 2