Umeed Hindi Shayari – अब वफा की उम्मीद भी

अब वफा की उम्मीद भी किस से करे भला
मिटटी के बने लोग कागजो मे बिक जाते है।

Umeed Hindi Shayari – तेरी उम्मीद तेरा इंतज़ार करते

तेरी उम्मीद तेरा इंतज़ार करते है,
है सनम हम तो सिर्फ तुमसे प्यार करते है….

Umeed Hindi Shayari – ना पूछना कैसे गुज़रता है

ना पूछना कैसे गुज़रता है पल भी तेरे बिना,
कभी देखने की हसरत में कभी मिलने की उम्मीद में..!!

1 2